जयपुर: ‘नो स्कूल-नो फीस’ की मांग को लेकर अब संयुक्त अभिभावक समिति ने 31 अगस्त को स्वैच्छिक राजस्थान बंद का आह्वान किया है. प्रेस क्लब में प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए यह जानकारी देते हुए समिति के पदाधिकारियों ने बताया कि कोरोना के इस कठिन समय में भी निजी स्कूल अपनी मनमानी कर रहे हैं और उनसे जून से लेकर अभी तक की फीस मांग कर और अमानवीय व्यवहार कर रहे हैं.
शांतिपूर्ण तरीके से बंद रखा जाएगा:
समिति के प्रवक्ता इशांत शर्मा ने कहा कि स्कूल न खुलने तक फीस माफी की मांग को लेकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री से लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री तक को ज्ञापन भेजे. साथ ही अभिभावकों के कई समूह कई बार राजस्थान के शिक्षा मंत्री से भी मिले पर शिक्षा मंत्री ने भी जब तक स्कूल ना खुले तब तक फीस जमा करवाने के आदेश दिए. साथ ही अगर कोई स्कूल फीस की मांग करता है तो कार्यवाही के निर्देश भी दिए लेकिन निजी स्कूल संचालकों ने फीस के लिए दबाव डालने का अपना रवैया जारी रखा. इसलिए इस रवैये के विरोध में 31 अगस्त को शांतिपूर्ण तरीके से बंद रखा जाएगा.
करीब 450 व्यापारिक और सामाजिक संगठनों ने समर्थन का वादा किया:
समिति के महामंत्री मनीष विजयवर्गीय ने कहा कि अभिभावकों के आह्वान पर करीब 450 व्यापारिक और सामाजिक संगठनों ने समर्थन का वादा किया है जिनमें राजपूत करणी सेना भी शामिल है. समिति ने अनुरोध किया है कि सोमवार 31 अगस्त को कोई भी अभिभावक अपने बच्चों को ऑनलाइन क्लास भी अटेंड नही करवाए.

Leave a Reply