गुजरात के सूरत के पांडेसरा इलाके में रहने वाले 12 साल के छात्र आकाश तिवारी की दो दिन पहले हुई हत्या ने पूरे इलाके में सनसनी फैला दी है. आकाश चौथी कक्षा का छात्र था और मंगलवार के दिन वह अपने घर से थोड़ी दूर रहने वाले 20 साल के दोस्त अमन शिवहरे से मिलने गया था.लेकिन वो वापस जिंदा अपने घर नहीं लौटा. आकाश के परिजन उसकी खोज करते हुए दोस्त अमन शिवहरे के भी घर पर भी गए थे, लेकिन उसने आकाश के वहां आने की बात से साफ इंकार कर दिया था.

नहीं मिला तो पुलिस में शिकायत
आकाश के नहीं मिलने पर परिवारवालों ने उसके अपहरण की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई थी. पुलिस आकाश की तलाश में जुटी ही थी कि अमन शिवहरे का रूम पार्टनर सोनू जब रात को नौकरी से लौटा तो उसने पलंग के नीचे एक बच्चे की लाश देखी. जबकि इस दौरान अमन पलंग के ऊपर आराम से बैठा हुआ था.

सोनू ने उस बच्चे की लाश को लेकर अमन से पूछा तो उसने लाश के बारे में कुछ भी जानकारी होने इंकार कर दिया. फिर सोनू ने लाश को लेकर मकान मालिक और पुलिस को सूचना दी.

खबर मिलते ही सूरत की पांडेसरा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक आकाश तिवारी की लाश कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि आकाश की मौत गला घोंटने से हुई है.

पुलिस ने अमन शिवहरे को हिरासत में ले लिया और पूछताछ के दौरान उसने अपना गुनाह कुबूल कर लिया. अमन ने पुलिस को बताया कि आकाश तिवारी मोबाइल में खेले जाने वाले फ्री फायर गेम का आदी था और वो उसके पास मोबाइल में गेम खेलने आया करता था.

उस रोज उसने आकाश को गेम खेलने भी दिया था लेकिन उसने उसे गेम खेलने से मिलने वाले प्वाइंट गंवा दिया था लेकिन वह और भी गेम खेलने की जिद कर रहा था तो उसने उसे मार दिया.

Leave a Reply