हस्तरेखा शास्त्र के द्वारा हथेली में स्थित रेखाओं की मदद से व्यक्ति के जीवन में होने वाली घटनाओं के बारे में भी बहुत कुछ जाना जा सकता हैं। इन्हीं रेखाओं में से एक हैं जीवन रेखा जो कि व्यक्ति की आयु और सेहत को दर्शाती हैं। जीवन रेखा की मदद से आने वाले समय का आंकलन किया जा सकता हैं कि कोई हादसा तो नहीं होने वाला हैं। हथेली पर जीवन रेखा अंगूठे और तर्जनी अंगुली (इंडेक्स फिंगर) के बीच से आरंभ होकर कलाई के पास जाकर मिलती है।

तो आइये जानते हैं इसके बारे में कि किस तरह जीवन रेखा से पता किया जाए आपकी सेहत के बारे में ।

– जिन हथेलियों में जीवन रेखा नहीं बनती हैं उसे अच्छा संकेत नहीं माना जाता है। हथेली पर जीवन रेखा का न बनना खराब सेहत, दुर्घटनाओं में बढ़ोतरी और छोटा जीवन की तरफ इशारा करती है।

– अगर किसी की हथेली पर लंबी और गहरी जीवन रेखा बनी होती है तो इसका मतलब उस व्यक्ति की सेहत अच्छी रहती है। ऐसे लोगों में बीमारियों से लड़ने की क्षमता काफी होती है यानी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी रहती है।
– छोटी जीवन रेखा वाला व्यक्ति शर्मीले स्वभाव का व्यक्ति होता है। अपने इसी स्वभाव के कारण दूसरे लोग उस पर हमेशा हावी होने की कोशिश करता है।

– अगर आप की हथेली पर मोटी जीवन रेखा बनी हुई तो इसका मतलब आप अपने शारीरिक बल के कारण मान-सम्मान प्राप्त करते हैं। इस तरह के लोग ज्यादा से ज्यादा खेल से संबंधित गतिविधियों में भाग लेते हैं।

– अगर किसी व्यक्ति की हथेली पर जीवन रेखा के अंत में क्रास का निशान बना होता तो इसका संकेत व्यक्ति के जीवन के अंतिम समय में मृत्यु होने तक काफी परेशानियों को झेलना पड़ता है।
– अगर किसी की जीवन रेखा जंजीरनुमा की तरह बनती है ऐसा व्यक्ति हर समय बीमारियों से पीड़ित रहता है। उसे एक रोग के बाद दूसरा रोग लगा रहता है।

– अगर जीवन रेखा को काटती हुई कई अन्य छोटी रेखाएं हथेली पर बनती हो तो इसका मतलब आपके जीवन में कोई बड़ा हादसा घट सकता है।

– अगर हथेली पर जीवन रेखा साफ-सुथरी और स्पष्ट रूप से अर्ध गोलाकार में हो तो यह बहुत ही शुभ मानी जाती है। ऐसे लोगों का स्वस्थ्य बहुत अच्छा रहता है जिस कारण से ये लोग बहुत उत्साही और ऊर्जा से भरे हुए होते हैं।

Leave a Reply