अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के समय अपने भजनों से मीडिया और सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोरने वाले भजन गायक देवेंद्र पाठक अब मुश्किलों में फंस गए हैं. दिल्ली की एक महिला ने भजन गायक देवेंद्र पाठक पर बलात्कार, जबरन गर्भपात कराने और धोखा देने का आरोप लगाया है. यूपी डीजीपी के निर्देश पर अयोध्या पुलिस ने देवेंद्र पाठक पर मुकदमा दर्ज किया है.

पीड़िता दिल्ली की रहने वाली है और विधवा है. महिला की माने तो भजन गायक देवेंद्र पाठक से उसकी मुलाकात दिल्ली में ही हुई. इसके बाद दोनों एक दूसरे से प्रेम करने लगे. दोनों के बीच बात शादी तक पहुंच गई. इस बीच महिला गर्भवती हो गई. महिला का आरोप है कि उसका जबरन गर्भपात करा दिया गया और भजन गायक देवेंद्र पाठक ने उससे 8 लाख रुपये भी ठग लिए.

पीड़ित महिला ने कहा कि देवेंद्र पाठक ने उसे फोन करके अयोध्या बुलाया. इस दौरान दोनों के बीच संबंध बने. महिला ने कहा कि देवेंद्र पाठक ने उसे बरगलाया और उसका यौन शोषण किया. इसके अलावा आरोपी महिला को धमकी भी दे रहा है. पीड़िता ने कहा कि मुकदमा दर्ज होने के बाद उसे बहुत फोन कॉल आ रहे हैं और केस वापस लेने को कहा जा रहा है. इन आरोपों पर कथावाचक देवेंद्र पाठक की प्रतिक्रिया अभी तक नहीं मिल पाई है.

इस घटना में पीड़िता का साथ देने वाली हाई कोर्ट की अधिवक्ता नीरज सिंह ने कहा कि पीड़िता हाई कोर्ट के बाहर रोती हुई मिली थी और बहुत परेशान थी. उनकी समस्या सुनकर ही मैंने महिला की मदद करने की ठानी. वकील नीरज सिंह ने कहा कि मैं इनके साथ आई और थाने पर गई. थाने पर इंस्पेक्टर साहब नहीं मिले इसके बाद मैं इनको लेकर एसएसपी ऑफिस आई लेकिन एसएसपी साहब भी नहीं मिले, हमें अगले दिन बुलाया गया, अगले दिन फिर हम गए, एसएसपी साहब तब भी हमको वहां नहीं मिले.

महिला वकील ने कहा कि हमने व्हाट्सएप से उनको एप्लीकेशन की कॉपी भेजी लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिला, फिर मैंने आईजी संजय गुप्ता को एप्लीकेशन दी उन्होंने कहा आप एसएसपी साहब के पास जाइए. इसके बाद हम फिर एसएसपी साहब के पास गए लेकिन वह नहीं मिले. आखिरकार मैं इनको लेकर लखनऊ गई और डीजीपी साहब से मिली. उन्होंने हमें सीओ अयोध्या से मिलने को कहा, मैंने उनसे फोन पर बात की. उन्होंने हमको अयोध्या बुलाया, हम अयोध्या आए तब जाकर FIR दर्ज हुई.

वकील नीरज सिंह ने कहा कि महिला को लगातार धमकी भरे फोन आ रहे हैं. इस वजह से एक बार उनका बीपी इतना बढ़ गया कि उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

महिला वकील के मुताबिक आरोपी देवेंद्र पाठक को बचाने के लिए कई लोगों के फोन आ रहे हैं. महिला को कहा जा रहा है उनकी पहुंच दूर दूर तक है और आप उनका कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगी, आप दिल्ली वापस चली जाओ. उन्होंने कहा कि तीन-चार दिन हो गए लेकिन अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है जबकि वह थाने के बगल में ही रहता है.

Leave a Reply