सोमवार अलसवेरे सुश्रावक समाजसेवी ने सोमवार को नवकार महामंत्र का पावन स्मरण करते हुए ली अंतिम सांस
सबको लगा कि वे कोराना जंग को जीत लेंगे लेकिन आखिर कोराना ने उनको लील ही लिया
ब्यावर 24 अगस्त । राजस्थान के सबसे बड़े उपखण्ड ब्यावर शहर में कोराना से मौतो का सिलसिला रुकने का नाम नही ले रहा है। पूरे प्रदेश में कोराना से मरने वालों की दर में ब्यावर अव्वल है । यहां कोराना से मौत का आंकड़ा 6 फीसदी है । जो बेहद चिंताजनक है।
सोमवार सवेरे जयपुर में उपचाररत कोराना से संक्रमित नगर के प्रमुख कपड़ा व्यवसायी को कोराना ने आखिर लील ही लिया । आचार्य रामलाल जी महाराज के प्रमुख श्रावक व नगर के ख्याति प्राप्त फर्म के मालिक का सोमवार अलसवेरे कोराना से देहावसान हो गया।

उनके मिलने वालों व शुभचिंतकों को यह लग रहा था कि हँसमुख स्वभाव के धनी व समाज सेवा व धार्मिक कार्यो में अग्रणी सेवा व सरलता की प्रतिमूर्ति सुश्रावक कोराना की जंग को जीत लेंगे व वे गत पाँच दिनों से जैन धर्म के प्रमुख महामंत्र नवकार का जाप करते हुए पूरी सहजता से इस जंग का पूरी सहनशीलता से मुकाबला कर रहे थे। लेकिन सोमवार अलसवेरे इस वैश्विक महामारी कोराना वायरस ने उनको लील ही लिया।दिवंगत आत्मा ने अंतिम समय तक भी पूरी तल्लीनता से महामंत्र का जाप करते हुए पूरी चेतना से अंतिम सांस ली।

अंतिम संस्कार जयपुर में ही हुआ, परिवारजनों ने दी अश्रुपूरित अंतिम विदाई, जैन समाज व दी क्लॉथ मर्चेट एशोसिएशन हतप्रभ
प्रमुख कपड़ा व्यवसायी व जैन समाज के लब्घ प्रतिष्ठित सुश्रावक के देहावसान की खबर पाकर दी क्लॉथ मर्चेट एशोसिएशन व जैन समाज में शोक की लहर दौड़ गई।जैन समाज व कपड़ा व्यवसायी अचम्भित हो गए।दिवंगत समाज सेवी कपड़ा व्यवसायी का अंतिम संस्कार आज जयपुर में ही कोराना 19 की एडवाइजरी के तहत किया गया। इस मौके पर उनके परिवारजनों ने अश्रुपूरित विदाई देते हुए अपनी श्रद्धाजंलि अर्पिर्त की।

प्रकाश जैन,वरिष्ठ पत्रकार

Leave a Reply