जयपुर, 23 अगस्त । कांग्रेस के 23 नेताओं की ओर से पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिी लिखकर पार्टी में नीचे तक बदलाव करने की मांग की खबरों के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि सोनिया गांधी को पार्टी का नेतृत्व करते रहना चाहिए। इस निर्णायक मोड़ पर लड़ाई हमारे लोकतंत्र के लोकाचार को बचाने की है। मुख्यमंत्री गहलोत ने रविवार को ट्वीट कर पार्टी नेतृत्व को लेकर सोनिया गांधी पर भरोसा जताया। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि सोनिया को पत्र लिखने वाले 23 वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के समाचार अविश्वसनीय हैं और अगर यह सच है तो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि मीडिया में जाने की कोई आवश्यकता नहीं है। मेरा दृढ़ता से मानना है कि सोनिया गांधी को पार्टी का नेतृत्व करते रहना चाहिए। इस निर्णायक मोड़ पर लड़ाई हमारे लोकतंत्र के लोकाचार को बचाने की है। पार्टी ने हमेशा चुनौतियों का सामना किया है। गहलोत ने लिखा कि मेरा मानना है कि राहुल गांधी को आगे आना चाहिए और कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहिए, क्योंकि देश के सामने हमारे संविधान व लोकतंत्र को बचाने के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। गौरतलब है कि कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी का कार्यकाल 10 अगस्त को खत्म हो गया है। रविवार को दिनभर चर्चा रही कि कांग्रेस के 23 नेताओं ने सोनिया गांधी को चिी लिखकर पार्टी में ऊपर से नीचे तक बदलाव करने की मांग की है। चिी लिखने वालों में 5 पूर्व मुख्यमंत्री, कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य, सांसद और कई पूर्व केंद्रीय मंत्री शामिल हैं। चिी में इस बात का जिक्र है कि भाजपा लगातार आगे बढ़ रही है, पिछले चुनावों में युवाओं ने डटकर नरेंद्र मोदी को वोट दिए। चिी में कांग्रेस का बेस कम होने और युवाओं का आत्मविश्वास टूटने को लेकर गंभीर चिंता जताई गई है। बताया जा रहा है कि करीब 15 दिन पहले भेजी गई इस चिी में बदलाव का ऐसा एजेंडा दिया गया है, जिसकी बातें मौजूदा लीडरशिप को चुभ सकती हैं।

Leave a Reply