कोटा/धौलपुर, 23 अगस्त । हाडौती संभाग में हो रही तेज बरसात तथा कोटा बैराज से पानी छोडे जाने के कारण धौलपुर में चंबल नदी के जलस्तर में बढोतरी हो रही है। ऐसी संभावना है कि सोमवार को चंबल नदी का जलस्तर खतरे के निशान 129.79 मीटर को पार कर जाएगा। चंबल के जलस्तर में बढोतरी को देखते हुए जिला प्रशासन ने अपनी सतर्कता बढा दी है।

धौलपुर जिला कलेक्टर आर के जायसवाल ने सभी अधिकारियों को हालात पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। वहीं, आमजन से सुरक्षित स्थान पर रहने की एडवायजरी जारी की गई है। धौलपुर में चंबल नदी के जलस्तर में बीते दो दिन से बढोतरी दर्ज की जा रही है। चंबल नदी के बढ़ते जलस्तर व बारिश के कारण जायसवाल ने सभी आलाधिकारियों सहित आमजन को अलर्ट जारी करते हुए आवश्यक सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि चंबल नदी का जलस्तर सोमवार को खतरे के निशान से ऊपर आ सकता है। इसे देखते हुए प्रशासन पूरी तरह सतर्क और मुस्तैद है।

कोटा बैराज से पानी छोडने के बाद में धौलपुर में चंबल नदी के जलस्तर में हुई बढोतरी, 12 डीओएल पी-01

जिला कलेक्टर ने बताया कि चंबल नदी में काली सिंध बांध व कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद जलस्तर में वृद्धि होगी तथा आमजन को परेशानी उठानी पड़ सकती है। उन्होंने बाड़ी, बसेड़ी, सरमथुरा, राजाखेड़ा, धौलपुर सहित जिले के सभी उपखंडाधिकारी, तहसीलदार, विकास अधिकारी, थानेदार, पटवारी एवं ग्राम विकास अधिकारियों को अपने क्षेत्र में रवाना करते हुए निर्देश दिया है कि चंबल नदी के किनारे बसे लोगो को मुनादी व अन्य माध्यमों से जागरूक कर उन्हें पहले से ही निचले स्थानों से ऊंचे स्थानों पर पहुंचने के लिए पाबन्द करें। इसके साथ ही अपने पशुओं को भी सुरक्षित स्थानों पर भेजें जिससे किसी अनहोनी घटना से बचा जा सके। डीएम ने किसी भी अप्रिय घटना से निबटने के लिए एनडीआरएफ व सिविल डिफेंस की टीम को आवश्यक सामग्री सहित बाढ़ संभावित सरमथुरा क्षेत्र के लिए रवाना कर दिया है। उन्होंने सरमथुरा क्षेत्र से लेकर राजाखेड़ा क्षेत्र में बहने वाली चंबल नदी के किनारे बसे गावों के सरपंचों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र में विशेष निगरानी रखते हुए लोगों को जागरूक कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में मदद करें व प्रशासन को हालात अवगत कराते रहें। डीएम जायसवाल ने बाढ़ की संभावना को देखते हुए सभी उपखंडाधिकारी, तहसीलदार, विकास अधिकारी, चिकित्सक, थानेदार, भू अभिलेख निरीक्षक एवं पटवारी सहित अन्य कर्मचारियों को मुख्यालय नहीं छोडऩे के आदेश दिए हैं।

सोमवार को बढ़ जाएगा चंबल का जल स्तर …..

कोटा बैराज से पानी छोडे जाने के कारण सोमवार को चंबल के जलस्तर में बढोतरी होगी। रविवार को दोपहर तीन बजे चंबल नदी का जलस्तर 122.80 मीटर रिकार्ड किया गया है। लेकिन काली सिन्ध बांध से तीन लाख क्यूसिक व कोटा बांध से लगातार छोड़े जा रहे पानी के कारण सोमवार को सुबह 11 बजे के लगभग नदी का जलस्तर खतरे के निशान 129.79 मीटर से ऊपर जाने की संभावना होने के कारण जिले में सतर्कता बरती जा रही है।
गत वर्ष आई बाढ़ में चंबल नदी के किनारे बसे कई गांवों को बाढ़ ने प्रभावित किया था। जलस्तर में बढोतरी की स्थिति को देखते हुये स्थानीय प्रशासन को ग्रामीणों को ऊपरी इलाकों में पशुओं सहित तत्काल भेजने के निर्देश दिए हैं। जिससे किसी प्रकार का नुकसान न हो।

Leave a Reply