अपकमिंग फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के लिए तुर्की गए आमिर खान विवादों में घिर गए हैं। फिल्म की शूटिंग शुरू करने से पहले उन्होंने वहां के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोआन की पत्नी अमीन से मुलाकात की। 15 अगस्त को हुई इस मुलाकात की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं। एक ओर सोशल मीडिया यूजर्स आमिर को एंटी-नेशनल बता रहे हैं, वहीं मामले पर भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने आ गई हैं।

‘खुशी हुई कि आमिर तुर्की में शूटिंग करेंगे’

आमिर से मुलाकात के बाद अमीन ने लिखा- ‘‘दुनियाभर में मशहूर भारतीय अभिनेता, फिल्ममेकर और डायरेक्टर आमिर खान से इस्तांबुल में मिलकर बहुत खुशी हुई। मुझे यह जानकर खुशी हुई कि आमिर ने अपनी लेटेस्ट मूवी ‘लाल सिंह चड्ढा’ की शूटिंग तुर्की के अलग-अलग इलाकों में करने का फैसला लिया है। मैं इसके लिए तैयार हूं।’’

मुलाकात पर विवाद क्यों?

दरअसल, अर्दोआन अक्सर भारत विरोधी बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। जब भी भारत और पाकिस्तान के मामलों का जिक्र होता है, अर्दोआन पाकिस्तान के साथ खड़े नजर आते हैं। पिछले साल जब भारत ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था, तब उन्होंने इस कार्रवाई का विरोध किया था।

पिछले महीने बकरीद के मौके पर अर्दोआन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से बात की थी। साथ ही उन्हें भरोसा दिया था कि वे कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान का सपोर्ट करते हैं। कुछ रिपोर्ट्स में यह दावा भी किया जा चुका है कि तुर्की भारत में कट्टर इस्लामिक संगठनों को फंडिंग भी करता है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने जताई नाराजगी

ट्विटर एक यूजर ने लिखा कि आमिर ने भारत के मित्र इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू से मिलने से इनकार कर दिया था, पर पाकिस्तान के दोस्त तुर्की की फर्स्ट लेडी से मिलने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं हुई।

Leave a Reply