भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शनिवार की रात अचानक संन्यास की घोषणा कर सभी को चौंका दिया। धोनी के संन्यास लेने के बाद महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली सहित भारतीय क्रिकेट जगत ने धोनी को उनकी दूसरी पारी के लिए शुभकामनाएं दीं।

सचिन ने ट्वीट किया, “भारतीय क्रिकेट में आपका योगदान काफी बड़ा रहा है, 2011 में एक साथ वर्ल्ड कप जीतना करियर का बेस्ट पल था, दूसरी पारी के लिए आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं।”

कोहली ने ट्वीट किया, ‘‘सभी क्रिकेटरों को एक दिन अपनी यात्रा का अंत करना होता है लेकिन जब आप किसी को इतने करीब से जानते हो और वह इस फैसले की घोषणा करता है तो आप अधिक भावुक हो जाते हो। आपने देश के लिए जो किया वह हमेशा सभी के दिलों में रहेगा।’’

भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक ओपनर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया,” इस तरह की आजादी क्रिकेट प्रेमी नहीं चाहते थे, आपके साथ अनगिनत यादें हैं, शानदार और प्रेरणादायी जीवन की कामना।”

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने ट्वीट किया, “भारत ए से लेकर भारतीय टीम तक का सफर सवालों से भरा रहा अब आपने इस चैप्टर में फुल स्टॉप लगा दिया है, आपको मैं यह बता सकता हूँ कि नया चरण उत्साहित करने वाला होगा जिसमें डीआरएस की कोई सीमा नहीं होगी।”
पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने ट्वीट किया, “धोनी को एक छोटे शहर के लड़के से लेकर मैच जीताने वाला और सबसे चतुर कप्तान के रूप में देखना रिमार्केबल रहा, शानदार यादों के लिए धन्यवाद माही, आपके साथ खेलना मेरा सौभाग्य रहा और मैं उन यादों को हमेशा याद रखूंगा।”

भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने ट्वीट किया, ‘‘उनकी भरपाई करना आसान नहीं होगा। आपके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना और आपको काम में बेहद पेशेवर के रूप में देखना सम्मान की बात रही। इसकी कोई बराबरी नहीं है। लुत्फ उठाएं।’’

हरफनमौला खिलाड़ी रविंद्र जडेजा ने ट्वीट किया, ‘‘बड़ा भाई, मेंटर, कप्तान और इससे भी बढ़कर खेल का महान खिलाड़ी। कप्तान आपसे बहुत कुछ सीखा। खेल को आपकी कमी खलेगी।’’

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने ट्वीट किया, ‘‘लीजेंड ने हमेशा की तरह अपनी शैली में संन्यास लिया। महेंद्र सिंह धोनी आपको देश के लिए सब कुछ दिया। चैंपियन्स ट्रॉफी जीत, 2011 विश्व कप और चेन्नई आईपीएल खिताब, ये जीत हमेशा मेरी यादों में रहेंगी। भविष्य के लिए शुभकामनाएं।’’
धोनी ने 30 दिसंबर 2014 को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया था, इसके बाद जनवरी 2017 में उन्होंने एकदिवसीय टीम की कप्तानी भी छोड़ दी थी।

धोनी ने 199 एकदिवसीय और 72 टी 20 मैचों में भारत का नेतृत्व किया।
धोनी, जिन्हें 2007 में भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया था, ने भारत को विश्व टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचाया। वह तीनों प्रारूपों में से 50 से अधिक मैचों में कप्तानी करने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं।

वर्ष 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद, धोनी भारतीय क्रिकेट में लगातार अपने अच्छे प्रदर्शन से खुद को साबित किया।
वर्ष 2007 में टी-20 टीम का कप्तान नामित किए जाने के बाद, धोनी ने भारत को दक्षिण अफ्रीका में हुए पहले टी 20 विश्व कप का खिताब दिलाया।

इसके बाद राहुल द्रविड़ के कहने पर धोनी को एकदिवसीय टीम का कप्तान बनाया गया और फिर अनिल कुंबले के सेवानिवृत्त होने के बाद उन्हें भारतीय टीम का पूर्णकालिक कप्तान नियुक्त किया गया।
धोनी के करियर में वैसे उतार चढ़ाव तो काफी थे,लेकिन वर्ष 2011 में उनके कप्तानी करियर में महत्वपूर्ण बदलाव आया। उन्होंने 2011 विश्व कप के फाइनल में श्रीलंका को हराकर 28 साल बाद विश्व कप दिलाया।

Leave a Reply